काजलियो lyrics marwadi|| Rajsthani folk fusion !!







थाने निरख निरख मुसकांवाँ , हरख हरख हर्षावा हाँ


चाँद सरीखो है उणियारो , ईं पर वारि जावाँ म्हें ।

आवो म्हारे पास मिजाजी * , म्हासुं नैण मिलावो जी । ।

अब तो रह्यो न जावे पल भी , आ हिवड़े लग जाओ जी । । 

थाने काजळियो बणा ल्युं , म्हारे नैणा में रमा ल्युं , राज , पलकां में बंद कर राखुलां । 

पलकों माय बंद होया तौ , नींद किंया फिर आवेला I ' 
फिर तो गौरी पिव नै थारी याद घणी तडफावेला । । '
मन रै माय बसाय राखलं , रंग प्रीत रौ राचेला । ।
मनड़ो नौ नौ ताल मिजाजण , थारी पल पल नाचेला । ।
थाने नौसर हार बणा ल्युं , म्हारे मनड़े सुं लगाल्युं , चुनड़ी में छुपाय थाने राखंला I 

चुनडे रे चा पल्लां पर पिव रौ नाम लिखायो जी । ।
छैल छबीलो रूप पिया रौ , गोरी रे मन भायो जी । ।
आपां जनम जनम रा साथी , साथ कदेई ना छूटे । । 
 प्रीत प्रेम री डोरी रौ , औ नातो कदेई नी टूटे । । 

थाने मोतीड़ो बणा ल्यं , अंगूठी रे माय सजा ल्यं , अंगुली में पेराय थाने राखंला I 
थाने काजळियो बणा ल्युं , म्हारे नैणा में रमा ल्यं , राज , पलकों में बंद कर राखुलां ।

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां