Breaking

शनिवार, 3 अक्तूबर 2020

Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman Lyrics Anupriya Lakhawat | Ramayan श्री राम स्तुति

Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman Lyrics - Ram Stuti | Anupriya Lakhawat | Mahesh | Ramayan श्री राम स्तुति


Title: Shree Ram Stuti ("श्री राम स्तुति") | Devotional Vocals: Anupriya Lakhawat Lyrics: Traditional Music: Mahesh Vyas (MV Musical Studio) Mix & Mastered: Mahesh Vyas Digital Partner: ABK Digital

Shri Ram Chandra Kripalu Bhajman Lyrics 


श्री राम चंद्र कृपालु भजमन हरण भाव भय दारुणम्। नवकंज लोचन कंज मुखकर, कंज पद कन्जारुणम्।। कंदर्प अगणित अमित छवी नव नील नीरज सुन्दरम्। पट्पीत मानहु तडित रूचि शुचि नौमी जनक सुतावरम्।। भजु दीन बंधु दिनेश दानव दैत्य वंश निकंदनम्। रघुनंद आनंद कंद कौशल चंद दशरथ नन्दनम्।। सिर मुकुट कुण्डल तिलक चारु उदारू अंग विभूषणं। आजानु भुज शर चाप धर संग्राम जित खर-धूषणं।। इति वदति तुलसीदास शंकर शेष मुनि मन रंजनम्। मम ह्रदय कुंज निवास कुरु कामादी खल दल गंजनम्।। छंद : मनु जाहिं राचेऊ मिलिहि सो बरु सहज सुंदर सावरों। करुना निधान सुजान सिलू सनेहू जानत रावरो।। एही भांती गौरी असीस सुनी सिय सहित हिय हरषी अली। तुलसी भवानी पूजि पूनी पूनी मुदित मन मंदिर चली।।


कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

पेज