Blog

March 24, 2021

Mitho bole re papaiyo मीठो बोले रे पपैयो रुत

Mitho bole re papaiyo मीठो बोले रे पपैयो रुत

मीठो बोले रे पपैयो रुत आई फागण री – 2

मन मे आवे रे पिया थारे सागे रेवन री

गौरी जोवे बाट पिया की – 2

कह गया आवण री

मन मे आवे रे पिया थारे सागे रेवन री

जेठ जेठानी सुख से सोवे, सोवे ननद नवेली रे – 2

कुनसे जनम को बैर निकालयो, मैं सोउ एकली

मन मे आवे रे पिया थारे सागे रेवन री

रात में सोउ तो ढोला नींद कोनी आवे – 2

एकली सोउ तो मेरो जियो घबरावे है

फेर फेर बस आडा रातू , बिताऊँ फागण री

मन मे आवे रे पिया थारे सागे रेवन री

चंदा तेरी चांदनी डागलिये पलँग लगायो रे – 2

झुन झुन रोवे गौरडी साजन जी क्यो नही आये रे

तारा गिण गिण रात बिताऊँ , मैं तो फागण री

मन मे आवे रे पिया थारे सागे रेवन री

BHAJAN
About shavu

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *